Latest Posts

गुरु, शनि एक ही राशि में आने से इन राशियों के भाग्य चमकेंगे, माता लक्ष्मी बरसाएगी कृपा

ज्योतिष में कर्म कारक शनि और देवगुरु बृहस्पति को महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। इस समय शनि देव मकर राशि में विराजमान है। देवगुरु बृहस्पति भी 14 सितंबर को मकर राशि में प्रवेश करेंगे। देवगुरु बृहस्पति 21 नवंबर तक इस राशि में रहेंगे। देवगुरु बृहस्पति और शनि के एक ही राशि में आने से शुभ योग बन रहा है। इस शुभ योग के बनने से कुछ राशियों को लाभ होने वाला है। इन राशियों पर कुछ समय के लिए मां लक्ष्मी की विशेष कृपा रहेगी। आइए जानते हैं कि बृहस्पति और शनि के एक ही राशि में आने से कौन सी राशियां भाग्यशाली रहने वाली हैं।

laxmi-mata

मेष राशि

मेष राशि के लिए बृहस्पति और शनि का एक ही राशि में आना शुभ कहा जा सकता है।

मां लक्ष्मी की कृपा से आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

नौकरी और व्यापार में तरक्की होगी।

स्वास्थ्य बेहतर रहेगा।

मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

कार्य में सफलता मिलेगी।

आपके काम की तारीफ होगी।

वृषभ राशि

वृष राशि वालों के लिए बृहस्पति और शनि का एक ही राशि में आना किसी वरदान से कम नहीं कहा जा सकता।

लाभ होगा।

मां लक्ष्मी की विशेष कृपा रहेगी।

नौकरी और व्यापार के लिए समय शुभ है।

निवेश करना फायदेमंद रहेगा।

कार्य में सफलता मिलेगी।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति और शनि का एक ही राशि में आना शुभ रहने वाला है।

दाम्पत्य जीवन सुखमय रहेगा।

मां लक्ष्मी की कृपा से धन लाभ होगा।

कार्यक्षेत्र में आपको बहुत सम्मान मिलेगा।

पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

नौकरी और व्यापार में लाभ के योग हैं।

Also Read-  BUSINESS RASHIFAL (HOROSCOPE IN HINDI) – मंगलवार 23 फरवरी 2021 लव लाइफ और बिज़नस राशिफल

कार्यक्षेत्र में आपके काम की तारीफ होगी।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों को बृहस्पति और शनि के एक ही राशि में आने से लाभ होगा।

मां लक्ष्मी की विशेष कृपा रहेगी।

लेन-देन के लिए अच्छा समय है।

कार्यक्षेत्र में आपको सफलता मिलेगी।

परिवार के सदस्यों का सहयोग मिलेगा।

दाम्पत्य जीवन सुखमय रहेगा।

(इस लेख में दी गई जानकारी पर हम यह दावा नहीं करते हैं कि यह पूरी तरह से सत्य और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले कृपया संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से सलाह लें।)

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss