Latest Posts

अब दिल्ली के चांदनी चौक का ‘हवा महल’ विवादों में घिरा

चांदनी चौक का ‘हवा महल’ लोगों के आकर्षण के केंद्र में है लेकिन यह विवादों से घिरा रहा है। चांदनी चौक की सुरक्षा को लेकर चिंतित स्थानीय दुकानदारों और लोगों ने इसे अवैध बताते हुए केंद्र व राज्य सरकार के साथ-साथ उत्तर नगर निगम से भी कार्रवाई की मांग की है. उनके मुताबिक इस पुराने भवन में अवैध रूप से बदलाव किए गए हैं, जबकि स्पेशल जोन होने के कारण यहां की इमारतों में बदलाव नहीं किया जा सकता है. मरम्मत कार्य के लिए नगर निगम की मंजूरी भी जरूरी है। इसके साथ ही वे चांदनी चौक में हो रहे अन्य अवैध निर्माणों पर भी चिंता व्यक्त कर रहे हैं और इसे रोकने और भवनों के पुराने स्वरूप को बहाल करने की मांग कर रहे हैं. चांदनी चौक में ऐतिहासिक महत्व की कई संरक्षित इमारतें और हवेलियां हैं।

इस संबंध में नगर निगम के उपायुक्त शशांक आला ने बताया कि उन्हें इस अवैध निर्माण की जानकारी नहीं है. वह रिकॉर्ड देखकर ही बता पाएगी। स्थानीय पार्षद रवींद्र कुमार उर्फ ​​रवि कप्तान ने बताया कि उन्हें भी संरक्षित व पुराने भवनों में हुए बदलाव की जानकारी नहीं थी। अगर ऐसा होता है तो उचित कार्रवाई की जाएगी। यह ‘हवा महल’ चांदनी चौक मुख्य मार्ग पर स्थित है। कहा जाता है कि पहले इसमें होटल चलता था। अभी भी कुछ दुकानें भवन के सामने वाले हिस्से में मुख्य सड़क की ओर चल रही हैं। इसके अग्र भाग में परिवर्तन का कार्य कई महीनों से चल रहा है। इसे राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्थित ‘हवा महल’ का रूप दिया जा रहा है।

चांदनी चौक की पुरानी इमारतें बिल्डरों के निशाने पर

Also Read-  दिल्ली में कोरोना की रफ्तार हुई बेकाबू, केजरीवाल की मांग- CBSE की परीक्षा तुरंत की जाए रद्द

चांदनी चौक सर्व व्यापार मंडल के अध्यक्ष एवं शाहजहांनाबाद पुनर्विकास परियोजना की निगरानी टीम के सदस्य संजय भार्गव ने आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा को इस हवा महल में हो रहे अवैध निर्माण के मामले में भी जानकारी दी. मुगल शहर में अन्य ऐतिहासिक इमारतें। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, लोक निर्माण मंत्री सत्येंद्र जैन, उपराज्यपाल अनिल बैजल, शाहजहांनाबाद पुनर्विकास निगम (एसआरडीसी) के नोडल अधिकारी नितिन पाणिग्रही और नगर निगम ने ट्वीट कर कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि पुरानी दिल्ली की ऐतिहासिक इमारतों के साथ-साथ अन्य पुरानी इमारतों को भी अवैध रूप से बदला जा रहा है. इससे भवन भी खतरनाक होते जा रहे हैं। उन्होंने चांदनी चौक की पुरानी इमारतों को बचाने के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) की ओर से गठित कमेटी की बैठक में भी यह मुद्दा उठाया था.

सरकार इमारतों के सामने के हिस्से को देगी आकर्षक स्वरूप

चांदनी चौक पुनर्विकास परियोजना के अगले चरण में मुख्य सड़क के दोनों ओर स्थित भवनों को आकर्षक रूप देने की तैयारी की जा रही है. इस संबंध में हाल ही में एसआरडीसी की बैठक में भी यह मुद्दा उठाया गया, जिसमें अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए सलाहकार की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है. इसमें आगे के हिस्से को संरक्षित कर ऐतिहासिक लुक दिया जाएगा।

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss