Latest Posts

घरेलू क्रिकेटरों पर जल्द बरसने वाला है पैसा, BCCI अध्यक्ष गांगुली कर सकते हैं घोषणा

दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्डों में से एक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) इस साल के घरेलू सत्र के लिए मैच फीस में बढ़ोतरी का अनुरोध करने वाले प्रस्तावों को स्वीकार कर सकता है। अगर ऐसा होता है तो रणजी ट्रॉफी के 2021-2022 सीजन, विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में शामिल होने वाले खिलाड़ियों को मौजूदा सैलरी से ज्यादा सैलरी मिल सकती है. इसके अलावा कोरोना महामारी के कारण पिछले सीजन रणजी ट्रॉफी रद्द होने से घरेलू क्रिकेटरों को उनकी मैच फीस का कम से कम 50 फीसदी मुआवजा मिलने की उम्मीद है.

BCCI अध्यक्ष गांगुली

हालांकि, इस पर अंतिम फैसला बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह करेंगे, जो इस मुद्दे पर 20 सितंबर को शीर्ष परिषद के साथ चर्चा करेंगे। माना जा रहा है कि समिति ने कई प्रस्तावों पर चर्चा की है। समिति में भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन, युद्धवीर सिंह, संतोष मेनन, जयदेव शाह, अविषेक डालमिया, रोहन जेटली और देवजीत सैकिया शामिल हैं।

बोर्ड ने कहा है कि, ‘अंतिम फैसला जय शाह को लेना है, लेकिन ज्यादातर सदस्यों की राय है कि कुल मैच फीस का कम से कम 50 फीसदी मुआवजा दिया जाना चाहिए.’ बता दें कि इस समय एक रणजी मैच में प्लेइंग इलेवन में रहने वाले खिलाड़ी को 35000 रुपये प्रतिदिन और हर मैच के लिए एक लाख 40 हजार रुपये फीस मिलती है। यानी कम से कम 70000 रुपये मुआवजे के तौर पर मिलेंगे. इसके अलावा बीसीसीआई को स्कोरर, अंपायर और अन्य हितधारकों का भी ध्यान रखना होगा।

Also Read-  दिलीप वेंगसरकर ने बीसीसीआई को सलाह दी, राहुल द्रविड़ को ऑस्ट्रेलिया भेजा जाए...

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss