Latest Posts

हजार स्कूलों में मेंटर बनाया जाएगा, 100 नए सैनिक स्कूल, 750 एकलव्य मॉडल स्कूल, लदाख को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश करते हुए शिक्षा क्षेत्र के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं। वित्त मंत्री ने आज 1 फरवरी 2021 को लोकसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि इस साल का बजट छह मुख्य स्तंभों पर आधारित है। वित्त मंत्री ने ‘मानव पूंजी’ अनुभाग के लिए भाषण के दौरान शिक्षा क्षेत्र से संबंधित प्रस्तावों की घोषणा की। शिक्षा मंत्री ने बजट भाषण के दौरान कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP), 2020 देश में स्कूली शिक्षा और उच्च शिक्षा दोनों में बड़े बदलाव करने में सक्षम है। वित्त मंत्री ने कहा कि एनईपी 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए महत्वपूर्ण प्रस्ताव किए गए हैं।

Hindi-Update-news

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत स्कूली शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देने के लिए देश भर के 15,000 स्कूलों को मॉडल स्कूल के रूप में चुना जाएगा। ये चयनित स्कूल अन्य स्कूलों के लिए मेंटरशिप और हैंडहोल्डिंग का काम करेंगे।

गैर-सरकारी संगठनों / निजी स्कूलों / राज्यों के साथ साझेदारी में 100 नए सैनिक स्कूल स्थापित किए जाएंगे।

पिछले बजट में उच्च शिक्षा आयोग के गठन की बात हुई थी। इस आयोग के लिए इस बार सरकार द्वारा कानून पेश किया जाएगा। यह दृढ़ संकल्प, मान्यता, विनियमन और वित्त पोषण के घटकों के साथ एक छाता निकाय होगा।

देश के 9 शहरों में उच्च शिक्षा संस्थानों के समन्वय के लिए छाता संरचनाएं शुरू की जाएंगी।

लद्दाख में उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए लेह में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी।

अनुसूचित जनजाति के छात्रों को बढ़ावा देने के लिए 750 एकलव्य मॉडल स्कूलों की स्थापना का लक्ष्य है। प्रति विद्यालय 20 करोड़ का आवंटन बढ़ाकर 38 करोड़ कर दिया गया है। यह राशि पहाड़ी और दुर्गम क्षेत्रों में 48 करोड़ रुपये होगी।

Also Read-  असदुद्दीन ओवैसी ने पश्चिम बंगाल दौरे के दौरान धार्मिक नेता अब्बास सिद्दीकी से मुलाकात की, चुनाव के बारे में यह बात कही

अनुसूचित जाति के छात्रों के कल्याण के लिए पोस्टमेट्रिक छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई है। सरकार ने इसके लिए सहायता राशि बढ़ाने की घोषणा की है। 4 करोड़ अनुसूचित जातियों के लिए 202 करोड़ एससी के लिए 35,219 करोड़ रुपये का आवंटन प्रस्तावित किया गया है।

रुपये खर्च करने की पद्धति। पिछले बजट में घोषित नेशनल रिसर्च फाउंडेशन के लिए ५०,००० करोड़ ५ वर्षों में तैयार किए गए हैं।

वित्त मंत्री ने राष्ट्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना के कार्यान्वयन के लिए 3000 करोड़ रुपये के आवंटन का प्रस्ताव रखा।

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss