Latest Posts

2024 में प्रशांत किशोर पार लगाएंगे कांग्रेस की नैया, चुनावी रणनीति के लिए बनेगा विशेष पैनल; एंट्री के खिलाफ G-23 के नेता

देश में चुनावी रणनीतिकार के तौर पर पहचाने जाने वाले प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल करने की चर्चा चल रही है. इस बीच ऐसे संकेत हैं कि अगर उनके प्रवेश पर सहमति हो जाती है तो प्रशांत किशोर को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के विशेष पैनल का हिस्सा बनाया जा सकता है, जो चुनावों की देखरेख करेगी। फिलहाल प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल करने और उनकी भूमिका तय करने की जिम्मेदारी सोनिया गांधी पर है. हालांकि अभी तक उन्होंने इस पर कोई फैसला नहीं लिया है। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि जुलाई के बाद से प्रशांत किशोर की एंट्री को लेकर कोई विचार नहीं किया गया है.

प्रशांत किशोर

वर्तमान में कांग्रेस पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ जैसे महत्वपूर्ण राज्यों में अपनी ही इकाइयों के बीच युद्ध को रोकने की कोशिश कर रही है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में कहा है कि प्रशांत किशोर की एंट्री साधारण नहीं होगी और चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए उन्हें विशेष पैनल का हिस्सा बनाया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक यह पैनल भी प्रशांत किशोर की सलाह पर बनाया जा रहा है. किशोर ने पार्टी नेतृत्व को एक पैनल गठित करने की सलाह दी थी जो चुनावी मामलों और पार्टी की मुख्य रणनीतियों पर फैसला करेगा।

प्रशांत किशोर 2024 के आम चुनावों पर ध्यान केंद्रित करेंगे

पार्टी के मामलों की जानकारी रखने वाले लोगों का कहना है कि प्रशांत किशोर को 2024 के आम चुनाव के लिहाज से पार्टी में एंट्री दी जा सकती है. इसके अलावा वह राज्यों में चुनाव की जिम्मेदारी भी संभाल सकते हैं। हालांकि, वह यूपी, पंजाब, उत्तराखंड जैसे राज्यों में हाल के चुनावों से दूर रह सकते हैं। अगले साल फरवरी-मार्च के दौरान देश के 5 राज्यों में चुनाव होने वाले हैं.

Also Read-  पंजाब: सिद्धू को मिले सिर्फ 5 वोट, रंधावा थे अंबिका सोनी की पसंद... जानिए चरणजीत चन्नी के सीएम बनने की पूरी अंदरूनी कहानी

प्रशांत किशोर की एंट्री के खिलाफ हैं जी-23 नेता

यूपी समेत ये सभी राज्य कांग्रेस के लिए अहम हैं क्योंकि यहां पार्टी जीत के लिए तरसती रही है. प्रशांत किशोर को लेकर कांग्रेस में चर्चा पहले ही शुरू हो चुकी है. खासकर जी-23 समूह, जो नेतृत्व से असहमत है, उसकी प्रविष्टि को गलत मानता है। हालांकि, कई राजनेता हैं जो कहते हैं कि प्रशांत किशोर के आने से पार्टी को ताकत मिलेगी और वह एक प्रभावी रणनीति बनाने में सक्षम होगी।

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss