Latest Posts

फिर से हुआ लॉकडाउन आगाज, दिल्ली ओर पुणे मे मजदूर प्रवासी अपने घरो को फिर से लोटने लगे

देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, शहरों में तालाबंदी का डर फिर सता रहा है। इसलिए अब प्रवासी मजदूरों के अपने घरों में वापस जाने की भी खबरें हैं। लगातार बढ़ती सख्ती और दिल्ली, पुणे और अन्य क्षेत्रों से आए प्रवासी मजदूरों के घरों में तालाबंदी की बात सामने आ रही है।

देश को एक बार फिर से कोरोना वायरस के संकट के उसी दौर में जाते देखा गया है, जहां यह पिछले साल था। एक तरफ, कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, शहरों में तालाबंदी का डर फिर सता रहा है। इसलिए अब प्रवासी मजदूरों के अपने घरों में वापस जाने की भी खबरें हैं। लगातार बढ़ती सख्ती और दिल्ली, पुणे और अन्य क्षेत्रों से आए प्रवासी मजदूरों के घरों में तालाबंदी की बात सामने आ रही है।

पिछले दिन दिल्ली में आनंद विहार टर्मिनल पर बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिकों को घर जाते देखा गया था। बिहार के कुछ मजदूरों का कहना है कि वे पिछली बार यहां तालाबंदी में फंस गए थे, ऐसे में अगर वे फिर से बने तो वे यहां फंसना नहीं चाहते। इसलिए, हम पहले से ही अपने घर जा रहे हैं।

Coronavirus-News

बड़ी संख्या में घर लौट रहे प्रवासी मजदूर

आपको बता दें कि कोरोना संकट के कारण दिल्ली में एक रात कर्फ्यू लगाया गया है। कई अन्य प्रतिबंध भी लगाए गए हैं। फिर भी, कोरोना के मामले बढ़ते रहते हैं। ऐसी स्थिति में प्रवासी श्रमिकों के बीच फिर से तालाबंदी का डर है।

एक ऐसा ही दृश्य पुणे, महाराष्ट्र में देखा जा रहा है, जो दिल्ली से बहुत दूर है। जहां प्रवासी श्रमिक बड़ी संख्या में अपने शहरों और गांवों में लौट रहे हैं। पुणे के रेलवे स्टेशन पर भारी भीड़ देखी गई। रेलवे द्वारा यह कहा गया है कि हम यहां नियमों का पालन कर रहे हैं, अधिक संख्या में हैं, लेकिन सामाजिक गड़बड़ी के पैमाने को पूरा किया जा रहा है।

Also Read-  पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना को लेकर बताई कुछ रणनीति, लॉकडाउन को लेकर मोदी बनाम विपक्ष

कोरोना: दिल्ली-मुंबई में अस्पताल के बिस्तर तेजी से भर रहे हैं, पुणे के होटलों में वार्ड बनाए जाने थे

फिर से हो रहा हैं तालाबंदी का डर

गौरतलब है कि दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, यूपी जैसे कई राज्यों ने अपने शहरों में रात का कर्फ्यू लागू कर दिया है। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन भी चल रहा है। पिछले दिन रायपुर, छत्तीसगढ़ में पूरे तालाबंदी की घोषणा की गई थी। ऐसे में लोग फिर से तालाबंदी से डरते हैं।

याद रहे कि पिछले साल जब अचानक तालाबंदी की घोषणा की गई थी, तब शहरों में लाखों मजदूर फंस गए थे। जिसके बाद प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ सड़कों पर अपने गाँव लौटती देखी गई।

कोरोना की बेकाबू गति, महाराष्ट्र-दिल्ली पीड़ित

इस समय, देश में कोरोना वायरस की गति बेकाबू हो गई है। गुरुवार को भी देश में लगभग 1.25 लाख कोरोना मामले सामने आए। बढ़ते मामलों के कारण, कई राज्यों ने उनके प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है, प्रविष्टि के लिए कोरोना परीक्षण जैसी शर्तें अनिवार्य हैं।

सबसे बड़ा संकट महाराष्ट्र में है, जहां एक ही दिन में लगभग 60 हजार मामले सामने आए हैं। पिछले कई दिनों से, महाराष्ट्र हर दिन 50 हजार से अधिक मामलों का सामना कर रहा है। दिल्ली में भी पिछले दिन साढ़े पांच हजार मामले दर्ज किए गए, जो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss