Latest Posts

दिल्ली में तेजी से बढ़े वायरल फीवर के मामले, बच्चों में दिखें ये लक्षण, न रहें लापरवाह

दिल्ली में बच्चों में वायरल फीवर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की संख्या भी बढ़ गई है। इनमें से ज्यादातर बच्चे वायरल फीवर से पीड़ित हैं। कुछ बच्चों में तेज बुखार, उल्टी, दस्त की समस्या भी होती है। जबकि हर दिन दो-तीन बच्चों को डेंगू की शिकायत मिल रही है। द्वारका स्थित आकाश हेल्थकेयर अस्पताल के बाल रोग विभाग की सीनियर डॉक्टर मीना जे के मुताबिक ओपीडी में ऐसे बच्चों की संख्या बढ़ी है, जिन्हें तेज बुखार हो रहा है. बच्चों में यह बुखार चार से छह दिन तक रहता है। साथ ही इनमें खांसी-जुकाम की भी शिकायतें मिल रही हैं। कुछ बच्चों में सांस लेने में दिक्कत भी देखने को मिल रही है।

coronavirus

ऐसे में बच्चों के स्वास्थ्य पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। उन्हें बिना मास्क पहने बाहर नहीं निकलने देना चाहिए। साथ ही अगर घर के किसी सदस्य को बुखार या सर्दी है तो बच्चों को उससे दूर रखना चाहिए। डॉ मीणा ने बताया कि वायरल से पीड़ित कई बच्चों की हालत नाजुक होने पर उन्हें एनआईसीयू में भर्ती कराया जा रहा है. पिछले दो सप्ताह से रोजाना बच्चों में डेंगू के तीन-चार मामले भी सामने आ रहे हैं।

वसंतकुंज के फोर्टिस अस्पताल में बाल रोग विभाग के प्रमुख डॉ. राहुल नागपाल का कहना है कि ओपीडी में रोजाना 40 से 50 बच्चे आ रहे हैं. इनमें से ज्यादातर वायरल फीवर से पीड़ित हैं। बरसात के मौसम में मच्छर जनित बीमारियों का प्रकोप बढ़ जाता है, जो बच्चों के लिए घातक हो सकता है। इसलिए इस मौसम में छोटे बच्चों (करीब एक साल) का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। यदि बच्चे में तेज बुखार, उल्टी, दस्त और सर्दी जैसे लक्षण दिखाई दें तो उसे तुरंत अस्पताल दिखाना चाहिए।

Also Read-  जानिए किन राज्यों मे बढ़ा लॉकडाउन और किन राज्यों मे दी कोरोना कर्फ्यू में छूट

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss