बिहार के थानेदार अपराधी को पकड़ने के लिए बंगाल गए थे, देर रात बदमाशों ने पीट-पीटकर मार डाला

bihar-police-Station

बिहार के किशनगंज के एसएच अश्वनी कुमार को बंगाल में भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। अश्वनी कुमार एक अपराधी को पकड़ने गया था, लेकिन तभी उस पर हमला किया गया और उसकी मृत्यु हो गई।

पश्चिम बंगाल में बिहार के एक SHO की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि एसएचओ बंगाल में वांछित अपराधी को पकड़ने गया था, लेकिन तभी कुछ लोगों ने उस पर हमला कर दिया और उसे पीट-पीटकर मार डाला।

मामला बंगाल के पंजिपाड़ा थाने के पंतापारा गांव का है। इस गाँव में एक वांछित अपराधी छिपा हुआ था, जिसे बिहार के किशनगंज के एसएचओ अश्वनी कुमार ने पकड़ा था, लेकिन उस पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया था, जिसमें उसकी मौत हो गई थी।

bihar-police-Station

जानकारी के मुताबिक, यह घटना शुक्रवार-शनिवार दोपहर करीब 2 बजे की है। दरअसल, किशनगंज बंगाल से सटी है। अश्वनी बंगाल के पंतापारा गाँव में वांछित अपराधी की तलाश में निकला था। बताया जा रहा है कि अश्वनी कुमार रात में बंगाल के स्थानीय पुलिस स्टेशन भी पहुंचे। तो थाना प्रभारी ने कहा कि ODO उसके साथ जाएगा। ओडीओ ने कहा कि आप जाओ, हम आते हैं। ऐसे में अश्वनी कुमार अकेले ही गाँव पहुँच गए। इसके बाद ग्रामीणों ने लाठी, डंडे और पत्थरों से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी।

इस मामले पर पूर्णिया रेंज के आईजी ने बताया कि वह (अश्वनी कुमार) बाइक चोरी के मामले में छापेमारी करने पहुंचे थे। उनके साथ इस्लामपुर के एसपी भी थे। उन्होंने कहा कि इस मामले में हम छापेमारी करेंगे और दोषियों को गिरफ्तार करेंगे।

Also Read-  दिल्ली: मौसम विभाग का अलर्ट 72 घंटो मे शीतलहर मचाएगी कोहराम, ठंड होगी ओर अधिक

फिलहाल अश्वनी कुमार का शव बंगाल के इस्लामपुर अस्पताल में है। पूरा मामला सामने आने के बाद, बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने पीड़ित परिवार को केंद्र सरकार और राज्य सरकार से एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की मांग की।